सोमवार, 19 अप्रैल 2010

पाबला जी पगडी में क्या है सुनिये शरद कोकास से

 छत्तीसगढ में भी है पारा 45 डिग्रि है .  तपन से भरे दिन कैसे गुज़र रहे हैं वहां सुनिये शरद जी की ज़ुबानी उनने जैसी बात हुई हू ब हू पेश है

5 टिप्‍पणियां:

  1. पाबला जी ने जो डिवाईस अपने पगड़ी के अन्दर छुपा रखा है वह कहाँ मिलता है इसकी भी चर्चा कर लेते तो अच्छा होता.
    गर्मी का हाल तो हर जगह लगभग बुरा ही है. जो पारे चढ़कर उतरने का नाम नहीं लेते उनका क्या किया जाये.
    सार्थक वार्ता के लिये साधुवाद

    उत्तर देंहटाएं
  2. yahi hal mewar ka he


    shekhar kumawat


    http://kavyawani.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  3. shukriya is badhiya batchit ke liye.
    kokas ji ka ye kahna ki hamare paas mausam ki jitni vividhta hai utni kisi aur deshwaalo ke pas shayad hi ho,ekdam sahi hai.
    baki blogger par is garmi ka asar to...vo to logo ki post me hi dikhta hai...

    ham ladenge sathi.......ki ham abhi tak lade kyn nahi, shandar.

    shahido ko hamara bhi naman.

    उत्तर देंहटाएं
  4. धन्यवाद इस बात चीत के लिये, बहुत अच्छी लगी

    उत्तर देंहटाएं

टिप्पणियाँ कीजिए शायद सटीक लिख सकूं