शुक्रवार, 29 जनवरी 2010

प्रीत का यह रूप

प्रीत का यह रूप मेरे अंतस को छू गया शायद आप भी पसंद करेंगे

2 टिप्‍पणियां:

टिप्पणियाँ कीजिए शायद सटीक लिख सकूं